पद्मासन – विधि – लाभ

padmasan

पद्मासन का अर्थ है कमल के समान मु्द्रा.यह मु्द्रा मानसिक शांति प्रदान करने वाला और सुख की अनुभूति देने वाला है.पद्मासन कई रोगों में भी लाभकारी है.स्वास्थ्य एवं मानसिक शांति की कामना करने वालों को नियमित इस योग का अभ्यास करना चाहिए

  Steps

  • स्टेप 1 पलथी लगाकर बैठ जाएं.
  • स्टेप 2 दाएं पांव के ऊपर अपना बायां पैर रखें और जहां तक हो सके पैरों को नाभि के पास लाने की कोशिश करें.
  • स्टेप 3 अपने हाथों को जंघाओं पर रखें.
  • स्टेप 4 शरीर के ऊपरी भाग को सीधा रखें.
  • स्टेप 5 कुछ पल इस मुद्रा में बनें रहे.इस योग की मु्द्रा को पैरो की स्थिति बदलकर भी दुहराना चाहिए.

 Benefits 

  • पद्मासन पैरों के जोड़ों में मौजूद तनाव को दूर करता है एवं वात सम्बन्धी रोग में भी लाभकारी होता है
  • इस आसन के नियमित अभ्यास से कमर दर्द और इस भाग मे मौजूद तनाव से भी राहत मिलता है
  • यह आसन मन को एकाग्र और स्थिर चित्त करने में भी सहायक है
  • श्वास सम्बन्धी विसंगतियों को दूर करने के लिए भी इस आसन का अभ्यास किया जा सकता है
  • स्मरण शक्ति के लिए भी पद्मासन उत्तम
  • इस आसन से रीढ़ की हड्डियों का भी व्यायाम हो जाता है.

 

Precaution
जब घुटनों एवं हिप्स में किसी प्रकार की तकलीफ हो उस समय पद्मासन नहीं करना चाहिए.

 

Please follow and like us:
18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *